Blissful Life by Krishna Gopal

आत्म निरिक्षण (Watch)

DigitalG1 Meditation
जब दृष्टि स्वयं पर टिक जाती है तब वह संसार से अपने आप हट जाती है। तभी कहा गया है, “Watch Yourself not others.”

WATCH (meaning)

  1. Watch Your Words
  2. Watch Your Actions
  3. Watch Your Thoughts
  4. Watch Your Company & Character
  5. Watch Your Habits

1. Watch Your Words

हमें Provoke (घायल) कर सकते हैं या हमारे मित्र तो मित्र भगवान के नजदीक भी पहुँचा सकते हैं। इतिहास साक्षी है, अमेरिका में स्वामी विवेकानंद के प्रारम्भ के ही केवल दो शब्दों ने ही पूरे अमेरिका का दिल जीत लिया था। वो शब्द थे, “My brothers & sisters of America”

2. Watch Your Actions

जिस कर्म से कर्तापन निकल जाता है, वह कर्म, कर्म नहीं पूजा हो जाता है।

3. Watch Your Thoughts

विचारों का प्रभाव शरीर के साथ-साथ बाह्य वातावरण पर भी पड़ता है।

4. Watch Your Company & Character

जैसा संग वैसा रंग। हमारा चरित्र भी हमारी संगत से ही बनता है।

5. Watch Your Habits

आदतें डालना आसान होता है, परन्तु उनसे निकलना मुश्किल होता है। फिर वही संस्कार बन जाते हैं।

जब दृष्टि स्वयं पर टिकी होती है तो जीवन का लक्ष्य निर्धारित होता है। हर पल आत्म विश्वास में रहता है। इरादा पक्का हो जाता है और प्रकृति भी पूरी मदद करती है।

खुद को समय जरूर दें, आपकी पहली जरूरत आप हैं।
समय के पास इतना समय नहीं कि आपको दोबारा समय दे सके।
जो अपना लक्ष्य निर्धारित नहीं करते, वें जिंदगी भर दूसरों के लक्ष्यों के लिये कार्य करते हैं।

With lots of Love & Affection

Dada
Krishna Gopal

Please Share:
Facebook
Twitter
WhatsApp
Telegram
LinkedIn
Pinterest
Reddit
Tumblr
Email
Print

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top